थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

251 Posts

80112 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 355 postid : 188

आरती श्री गुगल महाराज की

Posted On: 27 Dec, 2010 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


अब भैया हम जैसे कम्प्यूटर प्रेमियों के तो गुगल ही सबसे बड़ा दोस्त, भगवान और साथी है और आजकल लगता है मेरा सर्च इंजन मुझे धोखा दे रहा है इसलिए मैंने तो इस गुगल आरती को कंठस्थ कर रोजाना इसका पाठ करन शुरु कर दिया है. आप भी याद कर लो हो सकता है कुछ फायदा आपका भी हो जाएं.

आरती श्री गुगल महाराज की

google-aarti

| NEXT



Tags:           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

447 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Grizzly के द्वारा
June 10, 2016

Great common sense here. Wish I’d thhugot of that.

Piyush Pant, Haldwani के द्वारा
December 27, 2010

गूगल महाराज की जय……….

    Dillian के द्वारा
    June 11, 2016

    I guess finding useful, reliable inftomarion on the internet isn’t hopeless after all.


topic of the week



latest from jagran