थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

251 Posts

80112 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 355 postid : 375

मैगी : जीवन का एक हिस्सा (Maggi : My Complete Food)

Posted On: 29 Apr, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


अपने घर से दूर रहकर रहने वालों के सामने एक सबसे बड़ी चुनौती होती है खुद खाना बनाना. मेरे लिए तो खाना बनना जैसे नाच ना आए आंगन टेढ़ा. कभी स्कूल के समय में मम्मी या पापा दोनों एक साथ बाहर चले जाते थे और मैं अकेला होता था तो खाना बनाना ना आने के कारण मैगी का बहुत सहारा मिलता था. मैगी ने अपना साथ बाद में कॉलेज के दिनों में भी निभाया और उसके बाद आजकल भी जब कभी मूड की दही होती है तो मैगी की याद आती है.


Maggiबड़ी प्यारी होती है यह मैगी. चाहे सिंपल तरीके से बनाओ या चाहे उसमें टमाटर, मटर या बाकी सब्जियां डाल कर. बस होनी चाहिए गर्मागर्म.

और हां, मैगी के साथ यह पंगा भी नहीं कि इसे खाने या पकाने में घंटो लगेंगे, बस दो मिनट में तैयार और तीन मिनट में पेट में. पूरे पांच मिनट में पेट का कोटा पूरा.


मैगी की इसी लोकप्रियता को किसी कवि ने क्य खूब शब्दों में पिरोया है जरा एक नजर आप भी डालिए और मजा लीजिए मैगी के स्वाद का. बस थोड़ा ध्यान यह रखना कि मुंह में पानी आएं तो की-बोर्ड गीला मत कर देना.


Students-Hostellers का रखती ख्याल है Maggi
Bachelors के लिए तो कसम से बवाल है Maggi,


Breakfast, Lunch या dinner खाओ जब भी जी चाहे
Utilization की जीती जागती मिसाल है Maggi,


Egg, Chiken, Paneer, veg कितने रूप हैं इसके
मनभावन स्वाद की एक तरण-ताल है Maggi,


महंगाई का जवाब तो नहीं सरकार के भी पास
खुद महंगाई के लिए बन गयी सवाल है Maggi,


कुछ और ना हो इसका स्टॉक में होना जरुरी है
अपने लिए तो जैसे चावल-दाल है Maggi,


मियां-बीवी जो दोनों लौटे थक के ऑफिस से
फिर dinner में अक्सर होती इस्तेमाल है Maggi,


कभी था डर बीवी रूठी तो सोना पड़ेगा भूखे ही
अबला पुरुषों के लिए बन गयी ढाल है Maggi,


टेडी-मेढ़ी, सूखी-गीली फिर भी स्वाद में डूबी
बयां करती है क्या ज़िन्दगी का हाल है Maggi,


गुजारी हमने कैसे ज़िन्दगी, मत पूछ ‘आलसी’
कि मेरी ज़िन्दगी के भी कई साल हैं Maggi.


सौजन्य : इंटरनेट

| NEXT



Tags:                                                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

902 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Tessica के द्वारा
June 11, 2016

Thanks alot – your answer solved all my problems after several days stgnurligg

    Mellie के द्वारा
    June 11, 2016

    This was so helpful and easy! Do you have any artielcs on rehab?

Marlien के द्वारा
June 1, 2011

Soudns great to me BWTHDIK

    Lovie के द्वारा
    June 1, 2011

    Good to see a talnet at work. I can’t match that.

    Flip के द्वारा
    June 11, 2016

    When you think about it, that’s got to be the right anwser.

priyasingh के द्वारा
April 29, 2011

बहुत खूब …………….. आज बाज़ार से लौटे तो देर हो गयी थी तो हमने भी मैगीका ही डिनर किया और अभी मैगी खाते हुए ही आपके इस पोस्ट पर नज़र पड़ी ………..मैगी का स्वाद दुगुना हो गया …………..

    jack के द्वारा
    April 30, 2011

    मैगी के स्वाद को सभी की मुहर लगी है बहुत खुब.. वैसे मैगी हमारी भागती जिंदगी की तरफ एक इशारा भी है जो बताती है कि आज हमारे पास खाने को भी बहुत कम वक्त बचता है.

    Rohit के द्वारा
    May 17, 2014

    love u….

Rajkamal Sharma के द्वारा
April 29, 2011

प्रिय जैक भाई ….. आदाब ! ेडी-मेढ़ी, सूखी-गीली फिर भी स्वाद में डूबी बयां करती है क्या ज़िन्दगी का हाल है Maggi, बहुत ही सुंदर रचना हर बार की ही तरह हमारे लिए लेकर आये है …. इस परिश्रम और सेवा को सलाम


topic of the week



latest from jagran