थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

248 Posts

79662 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 355 postid : 500

आज हम एक अजीबो गरीब प्राणी के बारे में पढायेंगे

Posted On: 8 Jul, 2011 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


जी हां, आज हम उस विषय को अपने ब्लॉग में दे रहे हैं जिसके पीछे आज का पूरा युवा वर्ग पागल बना हुआ है. ‘गर्लफ्रेंड’ नामक इस बला का बखान हम करने जा रहे हैं सो अपने दिल को थाम कर रखना और एक कान पर हाथ भी लगा देना ताकि एक कान से सुन कर दुसरे से निकल ना जाएं. और हम तो यही कहेंगे कि युवाओं जागो रे जागो रे …..


Angry Girlfriend cartoon funny

गर्लफ्रेंड (GirlFriend) क्या होती है ध्यान से सुनना


इस जंतु का नाम हैGirlFriend” . . . . . .


ये अक्सर “Boyfriend” के साथ पाई जाती है !

इनका पौष्टिक आहार “Boyfriend” का भेजा होता है !


इनको अक्सर नाराज होने का नाटक करते हुए देखा जा सकता है ! पर अगर पैसे खर्च किये जाये तो फिर नाटक ख़त्म हो जाता है…इस प्राणी का सबसे खतरनाक हथियार रोना और इमोशनली ब्लैक मेल करना होता है !


गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप पर टेंशन नाम की बीमारी हो जाती है, जिसका कोई इलाज नहीं.. ये ही एक ऐसा प्राणी है जिसपे कोई विस्वास नहीं करता है…


गर्लफ्रेंड के लिए बॉयफ्रेंड कुछ भी कर सकता है, यहाँ तक की हस्ते हस्ते कुत्ता भी बनता है… इस प्राणी में बहुत सारे अवगुण फीर भी ये प्राणी इतनी आसानी से नहीं मिलता है, ये प्राणी भाव बहुत खाता है, पर इस प्राणी के पास होता कुछ भी नहीं है जो वास्तविक हो जिसपे भाव खाया जा सके….. ये प्राणी नर प्राणी को बर्बाद करने में कोई भी कसर नहीं छोडता है… ये प्राणी रुपया को आसानी से सूंघ सकता है……



तो आप इस प्राणी से बच कर रहें.


बॉयफ्रेंड्स के जनहित में जारी


लीजिये कुछ साश्वत सत्य वचन भी पेश हैं:


१) अगर किसी लडके ने किसी लड़की से “हाय/हैलो” कहा है तो वो इसे केवल “हाय/हैलो” ही समझती है | इसके उल्टे अगर किसी लड़की ने किसी लडके को “हैलो” कहा तो लड़का इसको केवल “हैलो” नहीं समझेगा |


२) अगर लड़का “हैलो” को केवल “हैलो” समझना भी चाहेगा तो उसके दोस्त ऐसा नहीं होने देंगे, आख़िर दोस्त होते ही किस दिन के लिए हैं


३) लड़के जिनकी गर्ल फ्रेंड होती है और जिनकी नहीं होती है, में केवल एक फर्क होता है, पहले वाले लोग “लड़कियों से बात करते हैं” और दूसरे वाले “लड़कियों के बारे में बात करते हैं” |




Tags:                                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Rajkamal Sharma के द्वारा
July 8, 2011

प्रिय जैक भाई बहुत ही सुन्दर लेख baki agli baar

    Maryland के द्वारा
    June 9, 2016

    Thanks for posting ChTeyl.rhe pain may persist but hope is on the horizon. Hope that you and I along with thousands of others former members of that horrific cult, can talk and work out the problems that still plaque us. Those thoughts that remind us of the bad old days, or when we might hear a certain term used, a holy day mentioned, whatever it might be we can get by it by supporting each other. If you ever need to talk, write me here at the Painful Truth.


topic of the week



latest from jagran