Best Web Blogs    English News

facebook connectrss-feed

थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

251 Posts

809 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

रहीम के दोहे: Rahim ke Dohe with meaning

पोस्टेड ओन: 22 Oct, 2012 मस्ती मालगाड़ी में

रहीम जी के दोहे जीवन में अमल लाने से जीवन की कई परेशानियां स्वत: ही दूर हो जाती हैं. आइयें आज हम भी रहीम जी के दोहों को हिन्दी में पढ़े और इनका लाभ उठाएं.

रहीम के दोहे: Rahim ke Dohe in Hindi with Meaning

रहिमन मनहि लगाईं कै, देखि लेहू किन कोय

नर को बस करिबो कहा, नारायन बस होय


अर्थ: कविवर रहीम के मतानुसार मन लगाकर कोई काम कर देखें तो कैसे सफलता मिलती है। अगर अच्छी नीयत से प्रयास किया जाये तो नर क्या नारायण को भी अपने बस में किया जा सकता है।

*************

रहीम के दोहे: Rahim ke Dohe in Hindi with Meaning

रहिमन थोरे दिनन को, कौन करे मुहँ स्याह
नहीं छलन को परतिया, नहीं कारन को ब्याह

अर्थ: कवि रहीम कहते हैं कि कुछ समय के लिए मनुष्य अपने मुहँ पर कालिमा क्यों लगाए? दूसरी स्त्री को धोखा नहीं दिया जाता और न ही विवाह ही किया जा सकता.


भावार्थ-दूसरी स्त्री को प्रेम का दिखावा कर उसे धोखा देना ही है, और उससे विवाह कर तो निभाया भी नहीं जा सकता. कोई पुरुष एक समय में दो स्त्रियों के साथ एक जैसा प्रेम नहीं कर सकता. अत उसे एक विवाह ही करना चाहिए.


*************


रहीम के दोहे: Rahim ke Dohe in Hindi with Meaning

गुन ते लेत रहीम जन, सलिल कूप ते काढि
कूपहु ते कहूँ होत है, मन काहू को बाढी


अर्थ: रहीम कहते हैं कि जिस प्रकार लोग रस्से के दवारा कुएँ से पानी निकल लेते हैं उसी प्रकार अच्छे गुणों द्वारा दूसरों के ह्रदय में अपने लिए प्रेम उत्पन्न कर सकते हैं क्योंकि किसी का हृदय कुएँ से अधिक गहरा नहीं होता.


*************


रहीम के दोहे: Rahim ke Dohe in Hindi with Meaning

रहिमन मनहि लगाईं कै, देखि लेहू किन कोय

नर को बस करिबो कहा, नारायन बस होय


अर्थ: कविवर रहीम के मतानुसार मन लगाकर कोई काम कर देखें तो कैसे सफलता मिलती है। अगर अच्छी नीयत से प्रयास किया जाये तो नर क्या नारायण को भी अपने बस में किया जा सकता है।


रहीम के दोहे, Rahim ke Dohe in Hindi with Meaning, Rahim Ke Dohe Devotion Hindi English Meaning, RAHIM KE DOHE, rahim das ke dohe hindi, kabir ke dohe with meaning in hindi, rahim ke dohe with meaning in hindi pdf, Rahim ke Dohe, Rahim Ke Dohe with hindi meaning, rahim ke dohe with hindi meanings, Rahim ke Dohe with meaning, रहीम के दोहे



Tags:                              

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (51 votes, average: 4.31 out of 5)
Loading ... Loading ...

3 प्रतिक्रिया

  • Share this pageFacebook0Google+0Twitter0LinkedIn0
  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

pitamberthakwani के द्वारा
October 22, 2012

सिर्फ इन दोहों से बात बनाती , तो कोई भी दुखी होता? यहाँ इन दोहों को कैसे अपने ज्जीवन में ढाले ? यह भी तो बताईये?

    Nandini के द्वारा
    November 19, 2012

    Exactly got the point!

    jack के द्वारा
    November 28, 2012

    महोदय, सबसे पहले तो आपको धन्यवाद जो आपने मेरे ब्लॉग पर प्रतिक्रिया दी. धन्यवाद… इन दोहों को अगर आप अपने जीवन में ढालना चाहते हैं तो बस कुछेक छोटे छोटे बातों को जीवन में लाने का प्र्यास करे. रहीम जी के यह दोहे हमारा जीवन बहुत अच्छा बना सकते हैं




  • ज्यादा चर्चित
  • ज्यादा पठित
  • अधि मूल्यित