थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

251 Posts

23417 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

सूरदास के दोहे: Surdas ke Dohe in Hindi without meaning

Posted On: 18 Dec, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अंखियां हरि-दरसन की प्यासी।

देख्यौ चाहति कमलनैन कौ¸ निसि-दिन रहति उदासी।।

आए ऊधै फिरि गए आंगन¸ डारि गए गर फांसी।

केसरि तिलक मोतिन की माला¸ वृन्दावन के बासी।।

काहू के मन को कोउ न जानत¸ लोगन के मन हांसी।

सूरदास प्रभु तुम्हरे दरस कौ¸ करवत लैहौं कासी।।

—————————————————————————————————————-

निसिदिन बरसत नैन हमारे।

सदा रहत पावस ऋतु हम पर, जबते स्याम सिधारे।।

अंजन थिर न रहत अँखियन में, कर कपोल भये कारे।

कंचुकि-पट सूखत नहिं कबहुँ, उर बिच बहत पनारे॥

आँसू सलिल भये पग थाके, बहे जात सित तारे।

‘सूरदास’ अब डूबत है ब्रज, काहे न लेत उबारे॥

—————————————————————————————————————-

मधुकर! स्याम हमारे चोर।

मन हरि लियो सांवरी सूरत¸ चितै नयन की कोर।।

पकरयो तेहि हिरदय उर-अंतर प्रेम-प्रीत के जोर।

गए छुड़ाय छोरि सब बंधन दे गए हंसनि अंकोर।।

सोबत तें हम उचकी परी हैं दूत मिल्यो मोहिं भोर।

सूर¸ स्याम मुसकाहि मेरो सर्वस सै गए नंद किसोर।।

—————————————————————————————————————-

बिनु गोपाल बैरिन भई कुंजैं।

तब ये लता लगति अति सीतल¸ अब भई विषम ज्वाल की पुंजैं।

बृथा बहति जमुना¸ खग बोलत¸ बृथा कमल फूलैं अलि गुंजैं।

पवन¸ पानी¸ धनसार¸ संजीवनि दधिसुत किरनभानु भई भुंजैं।

ये ऊधो कहियो माधव सों¸ बिरह करद करि मारत लुंजैं।

सूरदास प्रभु को मग जोवत¸ अंखियां भई बरन ज्यौं गुजैं।

—————————————————————————————————————-

प्रीति करि काहू सुख न लह्यो।

प्रीति पतंग करी दीपक सों आपै प्रान दह्यो।।

अलिसुत प्रीति करी जलसुत सों¸ संपति हाथ गह्यो।

सारंग प्रीति करी जो नाद सों¸ सन्मुख बान सह्यो।।

हम जो प्रीति करी माधव सों¸ चलत न कछू कह्यो।

‘सूरदास’ प्रभु बिन दुख दूनो¸ नैननि नीर बह्यो।


Surdas ke dohe, Surdas ke dohe in Hindi, Hindi Surdas, Surdas ke pad, Surdas ke pad in Hindi



Tags:               

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (123 votes, average: 4.10 out of 5)
Loading ... Loading ...

12 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Adityakadole के द्वारा
February 1, 2015

THis is awasome page i like it kuan si bhi mahti hoto isme dheke i like this page

ajeeb के द्वारा
December 1, 2014

its very हेा िहत

neeraj kumar के द्वारा
November 4, 2014

dohe to mast h

kiki ag के द्वारा
May 23, 2014

GOOD DOHES……!!!

Nouraj Khan के द्वारा
June 16, 2013

madarchod dohe hai

    sameer के द्वारा
    November 3, 2014

    same thaught

    Arihant Nahata के द्वारा
    December 17, 2014

    madarchor pakka madarchor

Nouraj Khan के द्वारा
June 16, 2013

kafi acche dohe hai

Ujjwal के द्वारा
April 30, 2013

इस पद का शीर्षक क्या है ??? और अशुधि बहुत है….. लेकिन अछि है ………..

    priya के द्वारा
    July 2, 2013

    थैंक्स बहुत सुक्रिया

    kiki ag के द्वारा
    May 23, 2014

    THANKS FOR TELLING……..!!

Meenakshi के द्वारा
February 26, 2013

बहुत 




latest from jagran