थोडा हल्का - जरा हटके (हास्य वयंग्य )

Shayri, jokes, chutkale and much more...

251 Posts

80107 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 355 postid : 963

तो इसलिए हो रहे हैं दिल्ली में बलात्कार

Posted On: 19 Dec, 2012 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

हाल ही में दिल्ली में हुए बलात्कार के केस ने पूरे देश की आंखे खोल दी. इस एक केस ने सच में देश की राजधानी को एक बुरे रेप सिटी की तर्ज पर खड़ा किया है. लेकिन इसमें आखिर गलत क्या है.


जब तक भारत में डर्टी पिक्चर को राष्ट्रीय पुरस्कार मिलेगा तब तक बलात्कारियों का तो हौसला और बढ़ेगा ही. भारत के राज्यसभा में बॉलीवुड अभिनेत्री रेखा और कई बलात्कारी रहेंगे तो आपको क्या लगता है भारत में सदाचार आएगा ??


जब सनी लिओन जैसी विश्व वेश्या को भारत में अतिथि बनाकर लाया जाएगा तो माँ बहिन बेटियों का सामूहिक बलात्कार ही होगा।


जब इस देश में राज्यपाल और मुख्यमंत्री एनडी तिवारी जैसे अय्याश और चरित्रहिन होंगे तो देश मे माँ बहिनो पर तो बलात्कार होंगे ही……..गोपाल कांडा जैसे लोग मंत्री होंगे तो आपको क्या लगता है की नारी सम्मान की प्रतियोगितायेँ होगी ?


देश की समस्या है पश्चिमी अंधानुकरण ::

पश्चिमी सभ्यता का परित्याग ही भारत को बचा सकता है। जो लोग टीवी और फिल्मों मे नग्नता फैलाते है वे फिर सेक्यूरिटी लेकर क्यूँ घूमते हैं ? इन लोगों की नग्नता फैलाने की सजा बेचारी हमारी आम माँ बहन बेटियो को भुगतनी पड़ती है। परेशानी है तो गाँव से शहर और शहर में घर से बाहर जाने वाली आम लड़कियों को. बलात्कारी उन लड़कियों मे ही सनी लिओन ढूंढते रहते है और मौका पाते ही बलात्कार कर देते हैं।


इसे देश का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि भारत में ‘मंगल पांडे’ के बाद अगर कोई पांडे प्रसिद्ध हुआ है तो वो है -चुलबुल पांडे, चंकी पांडे और पूनम पांडे।


अब सनी लिओन और बॉलीवुड की बालाएँ तो हाइ सिक्यूरिटी ज़ोन में रहती हैं सड़कों पर तो यह आम लड़कियां ही रहती हैं ना. इस अश्लीलता का सम्पूर्ण त्याग ही भारत मे सदाचार की गंगा बहाएगा। बलात्कार को रोकने का बस एक ही तरीका है और वह है अश्लीलता बंद हो और रेप के लिए मिले मौत की सजा।


बलात्कारियो के लिए एक चोरी का शेर अर्ज है-
औरत है वो कोई गोश्त नहीं जो तू उसे नोच ले,
हबस की आग में जलने बाले भेड़िये…
एक बार अपनी माँ बहन की भी सोच ले..!!



Tags:         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (14 votes, average: 4.21 out of 5)
Loading ... Loading ...

446 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Andralyn के द्वारा
June 10, 2016

Unaleaplelrd accuracy, unequivocal clarity, and undeniable importance!

krishna kumar के द्वारा
November 30, 2014

I fully agree with your words

Deepak Raheja के द्वारा
August 31, 2014

Right, Rapes are increasing due to TV/Cinema.There should be BAN on porn sites and A movies

iyengers के द्वारा
July 30, 2014

V hv to weak up

    Tori के द्वारा
    June 11, 2016

    Knlwgedoe wants to be free, just like these articles!

iyengers के द्वारा
July 30, 2014

V have to weak up


topic of the week



latest from jagran